Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana : फसल खराब होने पर किसानों को ₹20000 से ₹25000 तक प्राप्त होगा, जाने कैसे मिलेगा लाभ

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana

भारत एक कृषि प्रधान देश है जिसका अधिकतर भाग कृषि पर निर्भर है। कई बार किसानों का फसल प्राकृतिक आपदाओं के कारण से बर्बाद हो जाता है जिसके कारण से किसान को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल जी के द्वारा गुजरात के किसानों को लिए मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का शुरूआत किया गया है।

मुख्यमंत्री बालक बालिका प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत सरकार देगी विद्यार्थियों को ₹10000 की राशि, ऐसे करें आवेदन FREE

राज्य सरकार के इस योजना के तहत किसानों का फसल प्राकृतिक आपदा के कारण से अगर 30% तक बर्बाद हो जाता है तो उस स्थिति में उसे प्रति हेक्टेयर जमीन पर ₹20000 तक का लाभ मिलेगा। वहीं 66% से अधिक खराब होता है तो योजना के अंतर्गत ₹25000 तक का सरकार आर्थिक सहायता प्रदान करता है। यदि आप भी एक किसान है तो आप इस योजना का लाभ ऑनलाइन आवेदन कर बड़ी आसानी से ले सकते हैं। हमने नीचे मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना से जुड़ी सभी जानकारी नीचे बताया है।

पेटीएम एप्लीकेशन से पाए 3 लाख तक का पर्सनल लोन, इस तरह से करें अपने मोबाइल ऑनलाइन आवेदन FREE

Mukhymantri Kisan Sahay Yojana : Highlights

योजना का नामMukhymantri Kisan Sahay Yojana
किसने शुरू किया है?गुजरात सरकार ने
किसे लाभ मिलेगाकेवल किसान को
लाभ₹20000 से ₹25000 तक
आवेदन कैसे करे?ऑनलाइन/ऑफलाइन
Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना शुरू करने के पीछे का उद्देश्य


गुजरात सरकार का मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना को शुरुआत करने के पीछे का मुख्य उद्देश्य फसल खराब हो जाने की स्थिति में किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है। कई बार किसान का फसल अधिक बर्बाद हो जाने की स्थिति में वह अगले वर्ष से फसल ना बोने का मन बना लेते हैं इसी कारण से इस योजना का संचालन किया जा रहा है।

आपको बता दे की खरीफ के मौसम में फ़सल अधिक बर्बाद होता है। दरअसल ऐसा इसलिए क्योंकि उस समय वर्षा असमय हो जाती है। लेकिन अब किसानों को फसल खराब होने की स्थिति में घबराने की आवश्यकता नहीं है। सरकार फसल खराब होने पर किसानों को आर्थिक सहायता देने वाला है।
मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के लिए पात्रता
राज्य सरकार के इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को कुछ पात्रता पूर्ण करना होगा जैसे :-

  • राज्य सरकार इस योजना के तहत केवल फसल खराब होने की स्थिति में ही लाभ मिलने वाला है।
  • वही गुजरात सरकार इस किसान को लाभ उस किसान को देगा जिसका उम्र 18 वर्ष से अधिक पाया जाएगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए किसान गुजरात राज्य का मूल निवासी भी होना चाहिए।
  • वही योजना का लाभ लेने के लिए किसान के पास योग्य भूमि तथा जमीन का राजस्व रिकॉर्ड भी होना चाहिए।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के लिए जरुरी दस्तावेज


यदि आप गुजरात के मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो उसके लिए आपके पास कुछ जरूरी दस्तावेज होने चाहिए जो इस तरह से है:-

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक
  • पहचान पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • किसान कार्ड
  • मोबाइल नंबर

राज्य सरकार किस स्थिति में किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करता है?


राज्य सरकार के द्वारा योजना के तहत दिए जाने वाला आर्थिक सहायता पूर्ण जांच करने के पश्चात ही दिया जाता है। अगर किसान का फसल सुखा, आंधी, तूफान बेमौसम बारिश के कारण से बर्बाद हो गया है तो उसे स्थिति में जिला कलेक्टर के द्वारा इसकी जांच की जाएगी। जांच करने के लिए सबसे पहले ग्राम पंचायत में एक आवेदन फॉर्म भेजा जाएगा जिसमें मुखिया तथा वार्ड का हस्ताक्षर होता है।

वही फॉर्म को जमा करने के पश्चात खुद जिला कलेक्टर के अधिकारियों के द्वारा गांव में जाकर किसानों के फसल का परीक्षण किया जाता है। परीक्षण के दौरान अगर किसान का फसल 33 से 60% के बीच खराब पाया जाता है तभी किसानों को ₹20000 से ₹25000 रुपए तक का प्रति हेक्टेयर जमीन के हिसाब से लाभ प्राप्त होता है। बता दे की सरकार इस योजना के तहत एक किस को अधिकतम 4 हेक्टेयर जमीन पर ही लाभ देता है जिसमें उन्हें अधिकतम 1 लाख तक का आर्थिक सहायता प्राप्त होता है।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का लाभ पाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?


अगर आप गुजरात राज्य के रहने वाले एक मूल निवासी किसान है और आप राज्य सरकार के द्वारा शुरू किए जा रहे मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो उसके लिए आपको अभी कुछ समय इंतजार करना पड़ सकता है। क्योंकि सरकार द्वारा इस योजना को शुरुआत करने का घोषणा किया गया है।

लेकिन अभी तक इसका कोई आधिकारिक पोर्टल जारी नहीं किया गया है। जैसे ही राज्य सरकार के द्वारा इस योजना को लेकर आधिकारिक पोर्टल को जारी कर दिया जाएगा हम आपको सारी जानकारी उपलब्ध करा देंगे तो आप हमारे साथ जुड़े रहें।

Leave a Comment