Electric vehicles Disadvantages जाने के बाद Electric Cars खरीदने मे होगी और भी ज्यादा आसानी

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Electric vehicles Disadvantages
Electric vehicles Disadvantages

Electric Car Disadvantages :

इलेक्ट्रिक व्हीकल के जमाने मे हर कोई पेट्रोल – डीजल की गाड़ीयो से मुँह मोड़कर इलेक्ट्रिक गाड़ियां एक खरीदने की पहल करते हैं आजकल बाजार में और कोई इलेक्ट्रिक कार की तारीफ करता हुआ मिल जाएगा, लेकिन क्या आपको कोई ऐसा इंसान मिला है जिसने आज तक इलेक्ट्रिक कार या इलेक्ट्रिक टू व्हीलर की कमियों के बारे में बताया हो (Electric vehicles Disadvantages) अगर नहीं तो यह पोस्ट बिल्कुल आपके लिए ही है अगर आप भी कोई इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने का विचार बना रहे हैं तो यह पोस्ट पढ़ने के बाद आपको इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने में आसानी होगी चलिए बात करते हैं

Electric vehicles Disadvantages

Electric vehicles disadvantages you must know


इलेक्ट्रिक वाहन की कमियां

Electric vehicles Disadvantages
Electric vehicles Disadvantages

Less Power: इलेक्ट्रिक वाहन अभी तक इतने ज्यादा डेवलप्ड नहीं हुए हैं कि यह हर प्रकार की सड़क या रास्ते पर चलने में सक्षम हो कहीं ना कहीं इलेक्ट्रिक वाहन बीच में ही रुक जाते हैं क्योंकि सफिशिएंट पावर नहीं होने की वजह से ऐसा होता है हालांकि देश की कुछ इंग्लिश कंपनियां लगातार इलेक्ट्रिक वाहन को और भी ज्यादा सक्षम बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं

Avoid 5 Big Mistakes During Mobile Phone Charging, भूलकर भी यह गलती ना करें

More Charging Time :

Electric vehicles Disadvantages

ICE (internal Combustion Engine) इंजन वाले वाहन में इंधन को बढ़ने में मुश्किल से 5 से 10 मिनट का समय लगता है जबकि इलेक्ट्रिक वाहन को चार्ज करने में काफी ज्यादा समय लगता है क्योंकि इलेक्ट्रिक वाहन में लगी बैटरी को चार्ज करने में समय लगता ही है वो भी आपको कुछ घंटे रुककर चार्ज करना पड़ता है वहीं फास्ट चार्जिंग के लिए चार्जिंग स्टेशन की जरूरत होती है

चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी

Electric vehicles Disadvantages

( less Charging Station): Electric vehicles Disadvantages ,इलेक्ट्रिक वाहन की टेक्नोलॉजी नहीं होने के कारण देश विदेश में अभी तक इलेक्ट्रिक वाहन को चार्ज करने के लिए प्रयाग स्टेशन नहीं है जिसके कारण ग्राहकों को आए दिन चार्जिंग की समस्या का सामना करना पड़ रहा है और यह समस्या कोई आम समस्या नहीं है बिना इंजन के या बिना बैटरी चार्ज किए आप इलेक्ट्रिक वाहन को नहीं चला सकते है और चार्जिंग स्टेशन को तैयार करने में अभी कुछ समय और लग सकता है

Electric vehicles Mileage and Range Improve Tips, यह जानने के बाद आपका वाहन भी अच्छा माइलेज देगा

रेंज की कमी ( Less Driving Range):

Electric vehicles Disadvantages
Electric vehicles Disadvantages

इलेक्ट्रिक वाहन के साथ यह समस्या आम समस्या है क्योंकि इलेक्ट्रिक वाहन मैं ड्राइविंग रेंज बहुत ही कम देखने को मिलती है जबकि पेट्रोल या डीजल इंजन वाले वाहन में जितना मर्जी उतनी ड्राइव कर सकते हैं हालांकि कुछ लग्जरी कार ब्रांड्स ने अधिक रेंज वाली इलेक्ट्रिक कारों को लॉन्च किया है लेकिन इनको खरीदना आम आदमी के बस की बात नहीं है

बैटरी की कम उम्र ( Less Battery Life ) :

इलेक्ट्रिक वाहन में लगी बैटरी की उम्र निश्चित होती है बैटरी को जितना यूज किया जाता है उतनी ही उसकी लाइफ कम होती है यानी एक बैटरी के लिए उसके चार्जिंग साइकिल पहले से निर्धारित किए हुए होते हैं जैसे ही निर्धारित चार्जिंग साइकिल पूरी होते हैं बैटरी की उर्जा कम हो जाती है और यह ठीक से काम नहीं करती इसलिए Electric vehicles Disadvantage है साथ ही मौसम के बढ़ते घटते तापमान कभी बैटरी पर काफी असर पड़ता है

Ola Electric Scooter Sale, ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, बिक्री में मचाई धूम

बैटरी बदलना महंगा ( Battery Exchange Expensive) :

ईवी का सबसे बड़ा खर्चा इसकी बैटरी खराब हो जाने की स्थिति में बैटरी पैक को चेंज करना है और यह खर्चा कोई छोटा मोटा खर्चा नहीं है यह है लाखों की कीमत देने के बाद आपने इलेक्ट्रिक वाहन को दोबारा सड़क पर उतार सकते हैं अन्यथा नहीं इसलिए इलेक्ट्रिक वाहन की बैटरी को बदलना भी एक कमी है।

ज्यादा कीमत( Very Expensive ) :

पेट्रोल डीजल की कारों और टू व्हीलर के मुकाबले इलेक्ट्रिक वाहन काफी महंगे होते हैं. कई बार इनकी कीमत दोगुनी तक होती है क्योंकि इलेक्ट्रिक वाहन में कंपनी द्वारा इसको ऑपरेट करने के लिए इसमें लिथियम आयन बैटरी को इंस्टॉल किया जाता है जिसके बाद इस की रकम और भी ज्यादा बढ़ जाती है क्योंकि ली थी मैंने बैटरी को बनाने के लिए काम में आने वाले सामान की कीमत और सामान को छूने के बराबर है और बाजार में 400 से 500 किलोमीटर की रेंज इलेक्ट्रिक कार की कीमत लगभग 17 से 20 लाख रुपए तक होती है।

वर्कशॉप्स की कमी ( Less Workshop ) :

इलेक्ट्रिक कारों की टेक्नोलॉजी नई होने के चलते अभी बाजार मे ट्रेन्ड मैकेनिक्स की बहुत ही कमी है, साथ ही वर्कशॉप्स की संख्या भी काफी कम है. ऐसे में लोगों के सामने वर्कशॉप को लेकर बहुत ही कम ऑप्‍शन होते हैं कम वर्कशॉप्स का होना भी एक कमी है। ( अधिक जानकारी यहा देखे )

Leave a Comment