BarCode Kya Hai, बारकोड कितने प्रकार का व कैसे काम करता है

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
BarCode

BarCode Kya Hai, barcode क्या है और यह कैसे काम करता है यह सवाल तो आपके दिमाग में कभी ना कभी जरूर आया होगा क्योंकि आजकल इंटरनेट के जमाने में हर कोई व्यक्ति किसी भी दुकान पर कुछ खरीदते वक्त ऑनलाइन पेमेंट करने को प्राथमिकता देते हैं और ऐसा करते समय दुकानदार उनको एक बारकोड देते हैं जिसको स्कैन करने के बाद आप पेमेंट कर सकते हैं अब सवाल यह आता है कि आखिर यह बारकोड क्या है चलिए आज के इस आर्टिकल के माध्यम से यह जानेंगे कि बारकोड क्या है और बारकोड कैसे काम करता है तो आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें

BarCode Kya Hai (What is Barcode in Hindi)

BarCode


बारकोड (Barcode) एक प्रकार का आईडेंटिफायर है, जिसका उपयोग विभिन्न उत्पादों, पैकेजिंग, वस्तुओं और दस्तावेज़ों को पहचानने में किया जाता है। बारकोड एक ग्राफिकल प्रतीक होता है, जिसमें संख्याएं और सिंबोल्स होते हैं, जो यूनिक और विशिष्ट होते हैं। यह उत्पादों और वस्तुओं के डेटा को इलेक्ट्रॉनिक रूप से स्कैन करके पढ़ा जा सकता है। आसान भाषा में कहें तो हम ये कह सकते हैं की ये एक Machine Readable code है जो की number और lines के format में रहता है, ये lines मुख्यत parallel रहते हैं और ये किसी भी Product के पीछे तरफ print किया हुआ होता है। बारकोड उपकरणों का प्रमुख उद्देश्य डेटा को अधिक सरल बनाना होता है और मानव त्रुटियों के निर्माण को कम करना होता है। यह उत्पादों की मात्रा को ट्रैक करने में और इन्वेंटरी मैनेजमेंट के लिए बहुत उपयोगी होता है। साधारण रूप से, बारकोड दो पंक्तियों के धारिता से मिलता है। पहली पंक्ति में संख्याएं होती हैं जो उत्पाद को और दूसरी पंक्ति में उन्हें विशिष्ट बिंदु या सिंबोल्स से अलग करने के लिए होती हैं। यह बिंदु विभिन्न बारकोड स्टैंडर्ड के अनुसार विभाजित होते हैं, जिनमें UPC, EAN, Code 39, Code 128, QR कोड आदि शामिल होते हैं।

जब बारकोड स्कैनर उत्पाद के बारे में डेटा को स्कैन करता है, तो इसे कंप्यूटर या अन्य उपकरण पर दिखाए जाने वाले जानकारी के लिए उपयुक्त डेटाबेस से जोड़ा जा सकता है। इस प्रक्रिया से उत्पाद के बारे में विवरण, मूल्य, ब्रांड, निर्माता कंपनी, नाम आदि जानकारी मिलती है।

Barcode का इतिहास (history of Barcode in Hindi)

BarCode

बारकोड (Barcode) का इतिहास उसके उपयोग के साथ आधुनिक विश्व में बहुत साल पुराना है। बारकोड एक विशेष प्रकार का ज्ञाति प्रणाली है जिसका उपयोग उत्पादों, विभिन्न वस्तुओं और जानकारियों को संग्रहीत करने में किया जाता है। यह उपकरण ज्ञाति और डेटा को एक दर के साथ स्कैन करके आवश्यक जानकारी को प्राप्त करने की अनुमति देता है।

Anju Pakistan News, Anju kon hai, कैसे हुआ नसरुल्लाह से प्यार?

बारकोड का प्रारंभ युद्धकालीन समय (द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान) में लगभग 1948 ई. में हुआ था। बारकोड का विकास कार्य रायदियो कॉर्पोरेशन (Radio Corporation of America या RCA) के इंजीनियर नॉरमन वुडलैंड और उनके टीम के साथ शुरू हुआ था। इस विकास का मुख्य उद्देश्य विद्युत यंत्रों की खराबी को समझने और सुधार करने के लिए था। उन्होंने एक प्रकार का ज्ञाति प्रणाली बनाने की कोशिश की थी जो लाइनों और संख्याओं के समूह के रूप में अद्यतित डेटा को प्रदर्शित कर सकती थी।

बारकोड की वास्तविक उपयोगिता और व्यापक उपयोग का पता लगने में और समझने में कुछ देर हुई। इसके बाद, 1970 और 1980 के दशक में, अमेरिकी रिटेल उद्योग में बारकोड को स्वीकार किया गया और इसे उत्पादों की ईंधन पहचान करने और व्यापार को सुगम बनाने के लिए उपयोग करने की शुरुआत हुई।

प्रारंभ में, बारकोड लकड़ी और कागज के टैग्स पर रखा जाता था, लेकिन बाद में प्लास्टिक और अन्य धातुओं के टैग्स पर भी बारकोड का उपयोग किया गया। धीरे-धीरे इसका उपयोग विभिन्न उद्योगों में फैलने लगा, जैसे कि वित्तीय सेवाएं, शिपिंग और लॉजिस्टिक्स, स्वास्थ्य सेवाएं, और विभिन्न विनिर्माण उद्योगों में। आखिर वो दिन आ ही गया जब दुनिया में सबसे पहली बार 26th June 1974 में पहला barcode स्कैन किया गया Troy, Ohio में.और समय के साथ साथ Barcode की Technology में काफी बदलाव आये और नयी नयी features भी add कर दिए गए जिससे ये और ज्यादा बेहतर और आसान हो गया इस्तमाल करने के लिए।

वर्तमान में, बारकोड विश्वभर में उपयोग होने वाली एक प्रमुख ज्ञाति प्रणाली है और इसे उत्पादों, वस्तुओं, यातायात और वित्तीय लेनदेन की पहचान करने में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

Barcode Generate (बारकोड कैसे बनाए)

BarCode

बारकोड बनाने के लिए आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा:

  1. आवश्यक उपकरण तैयार करें: बारकोड बनाने के लिए आपको कंप्यूटर या लैपटॉप और बारकोड जनरेटर सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता होती है। आप ऑनलाइन बारकोड जनरेटर टूल्स भी खोज सकते हैं।
  2. जानकारी प्रदान करें: बारकोड में किसी भी वस्तु की यूनिक ओवरलेय कोड को प्रदान करने के लिए आपको उस वस्तु की जानकारी जैसे कि उत्पाद का नाम, कंपनी का नाम, नंबर आदि की आवश्यकता होती है।
  3. बारकोड जनरेटर सॉफ़्टवेयर का उपयोग करें: ऑनलाइन या ऑफ़लाइन उपकरण के माध्यम से बारकोड जनरेटर सॉफ़्टवेयर का उपयोग करें। आप अपने जनरेटेड बारकोड को विभिन्न फॉर्मेट में डाउनलोड या इंप्रिंट कर सकते हैं।
  4. बारकोड की प्रिंट या एक्सपोर्ट करें: जनरेटेड बारकोड को अपने उत्पादों, पैकेजिंग, लेबल या अन्य उद्देश्यों के लिए उपयोग करने के लिए बारकोड को प्रिंट करें या एक्सपोर्ट करें।

यदि आप ऑनलाइन बारकोड जनरेटर टूल्स का उपयोग करना चाहते हैं, तो इंटरनेट पर “Online Barcode Generator” या “Barcode Generator Tool” के लिए खोजें। वहां आपको विभिन्न विकल्प और फॉर्मेट मिलेंगे जिससे आप अपने आवश्यकतानुसार बारकोड बना सकते हैं।

कृपया ध्यान दें कि विभिन्न प्रकार के उत्पादों और इंडस्ट्रीज के लिए विभिन्न प्रकार के बारकोड होते हैं, इसलिए आपको अपने आवश्यकतानुसार सही बारकोड फॉर्मेट का चयन करना महत्वपूर्ण होगा।

Barcode के प्रकार (Types of Barcode in Hindi)

बारकोड (Barcode) एक विशिष्ट अक्षर, संख्या और संकेतों का समूह है जो उत्पादों, पैकेजिंग, और अन्य वस्तुओं को और जानकारी के तौर पर यूनिकली आईडेंटिफाई करने के लिए उपयोग होता है। यह इलेक्ट्रॉनिक डेटा को बढ़ावा देने और अधिक दृश्यमान बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। बारकोड के कई प्रकार होते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

  1. UPC (Universal Product Code): यह सामान्यतः संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में उपयोग होने वाला बारकोड है। इसका इस्तेमाल विभिन्न उत्पादों के लिए बीच में अंतरण के लिए किया जाता है।
  2. EAN (International Article Number): यह अंतरराष्ट्रीय बारकोड प्रकार है जो यूरोपियन और अन्य देशों में उपयोग होता है। यह भी उत्पादों को बेचने और खरीदने के लिए उपयोग होता है।
  3. QR Code (Quick Response Code): यह एक प्रकार का बारकोड है जिसमें ज्यादा डेटा एक संक्षेपित फ़ॉर्म में संग्रहीत किया जा सकता है। इसे डिजिटल मीडिया में उपयोग किया जाता है जैसे कि वेबसाइट लिंक्स, संपर्क जानकारी, आदि के लिए।
  4. Code 39: यह एक अन्य प्रकार का बारकोड है जिसमें अक्षर, संख्या, और स्पेशल चरित्र होते हैं। यह विशेषकर लॉजिस्टिक्स और विभाजन चेन में उपयोग होता है।
  5. Code 128: यह एक और प्रकार का बारकोड है जिसमें ASCII वर्णमाला के सभी वर्णों को समर्थित किया जाता है। इसे विभिन्न उद्देश्यों के लिए उपयोग किया जाता है, जैसे कि विभाजन चेन, शिपिंग, आदि के लिए।
  6. Data Matrix: यह एक बारकोड है जिसमें डेटा को बैठक या ग्रिड के रूप में संग्रहीत किया जाता है। इसे छोटे वस्तुओं और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में उपयोग किया जाता है।

ये कुछ प्रमुख बारकोड प्रकार हैं, जो विभिन्न उद्देश्यों के लिए उपयोग होते हैं। इनमें से प्रत्येक को विभिन्न उद्देश्यों के लिए विकसित किया गया है।

Barcode कैसे काम करता है? ( Barcode Working Process in Hindi)

Barcode symbology और Scanner के combination को इस्तमाल कर काम करता है. सबसे पहले किसी भी Barcode को पढने के लिए Scanner का इस्तमाल होता है जो की उन Barcode के symbols को समझ उन्हें Useful Information में बदल देता है। बारकोड काम करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करता है जो इस प्रकार हैं

  1. बारकोड बनाना: पहले उत्पाद के डेटा को अल्पविराम, चिह्नों और ज्यामितियों की सहायता से बारकोड में एनकोड किया जाता है। इस प्रक्रिया में बारकोड जनरेटर सॉफ्टवेयर या यहां तक कि बारकोड जनरेटर डिवाइस का भी इस्तेमाल किया जाता है। इस प्रक्रिया के दौरान उत्पाद की विशेषताओं और जानकारी को सही ढंग से बारकोड में प्रतिष्ठित किया जाता है।
  2. बारकोड प्रिंट करना: बारकोड जिस उत्पाद, पैकेज, या वस्तु पर डाला जाना होता है, उसे प्रिंट किया जाता है। बारकोड प्रिंट करने के लिए विशेष बारकोड प्रिंटर का उपयोग किया जाता है जो बारकोड को आसानी से प्रिंट करता है।
  3. बारकोड स्कैन करना: बारकोड को पढ़ने के लिए बारकोड स्कैनर, स्मार्टफोन या कंप्यूटर में एक विशेष डिवाइस का उपयोग किया जाता है। यह उपकरण बारकोड के अल्पविराम, चिह्नों और ज्यामितियों को पढ़कर उसमें छिपी जानकारी को समझता है।
  4. डेटा की प्रक्रिया: बारकोड के जरिए पढ़ी गई जानकारी एक डेटाबेस में संग्रहीत की जाती है जिसमें उत्पाद या वस्तु के बारे में संपूर्ण जानकारी शामिल होती है। यह जानकारी उपयोगकर्ता को उत्पाद के विवरण, मूल्य, उत्पादक कंपनी आदि के बारे में बताती है।

Barcode के उपयोग (Barcode Uses)


★ Consumer Retail Goods में इसका इस्तमाल होता है
★ Manufacturing Process Tracking (MPT) में जहाँ
की हल्की और भारी equipments और vehicle को
assemble किया जाता है
★ Movement of Products supply chain में
★ Access Control सभी चीज़ों की जैसे Building,
events, concerts, train, ships , planes, tyre etc
जहाँ की आने जाने में Barcode का भरपूर इस्तमाल होता है
★ Coupons, Gift Cards, Driving Licence, Package
Tracking में इनका भरपूर इस्तमाल होता है
★ Postal ऑफिस में Speed Post को ट्रैक करने में
★ Medicine Manufacturing में anti-counterfeiting
और expiring system को रोकने के लिए
★ Asset Tracking System में जैसे की किसी school,
colleges, hospitals में जहाँ Check-in /Check out
की व्यवस्था हो
★ इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड storage और retrieval में
★ Lifecycle identification में किसी assembly lines में
जहाँ की critical parts को assemble किया जाता हो

Leave a Comment